जल्द संतान चाहते हैं तो अपनाइए ये 5 एक्सपर्ट टिप

0
149
जल्द संतान चाहते हैं तो अपनाइए ये 5 एक्सपर्ट टिप

बहुत कोशिशों के बाद भी आपको संतानसुख नहीं मिला तो मत परेशान होइए। प्रकृति में हर चीज समय पर होती है और अपना समय लेती है। पर कभी—कभी ऐसा भी होता है कि हम जाने—अनजाने कुछ गलतियां कर रहे होते हैं अगर उन्हें सुधार लें तो बहुत जल्द घर में नन्हीं किलकारी गूंजने लगेगी। आज हम आपको बता रहे हैं कुछ एक्सपर्ट एडवाइस जिनपर अमल करके आप जल्द अपनी संतान का मुंह देख पाएंगे:

1. गर्भधारण करने से पहले चेकअप कराएं: बच्चे के लिए कोशिश करने से पहले होने वाली मां डॉक्टर के पास जाकर अपना चेकअप कराए और गर्भ धारण करने के लिए जरूरी विटामिन खाना शुरू कर दे। यह विटामिन है फोलिक एसिड। यह गर्भधारण में बहुत मददगार होता है। अक्सर इसी की कमी से गर्भ नहीं ठहर पाता।

2. मासिक चक्र को समझें: हमारा शरीर प्रकृति की अनोखी मशीन है। इसे समझेंगे तो संतान पैदा करने में कठिनाई नहीं होगी। यह इसलिए जानना जरूरी है ताकि आपको पता रहे कि आप महीने के किस समय में गर्भ धारण के लिए सबसे उपयुक्त हैं। जब मां के शरीर में अंडे बनने की प्रक्रिया चालू हो वह समय गर्भ धारण के लिए सबसे सही समय है। आपके शरीर में अंडे कब बन रहे हैं यह बताने के लिए एक ओव्यूलेशन किट आती है जो प्रेग्नेंसी बताने वाली किट की तरह होती है। यह किसी भी मेडिकल स्टोर पर मिल जाती है। जो किट न खरीदना चाहें तो वे अपने मासिक चक्र की ​तारीख के हिसाब से तय कर सकते हैं। इसकी गणना करने का कैलेंडर या कैलुकुलेटर भी नेट पर उपलब्ध है। उसमें आप पीरियड की तारीख डालिए और आपको पता चल जाएगा कि कौन सी तारीख आपके मां बनने के लिए ज्यादा उपयुक्त है। ध्यान रखिए महीने भर में महज तीन—चार दिन ही मां बनने के लिए सबसे अच्छे होते हैं। इसके बाद आपकी कोशिशें ज्यादा कामयाब नहीं होतीं।

3. शारीरिक संबंध बनाने के बाद कुछ देर स्थिर होकर लेटें: बच्चे के लिए ट्राई करने के बाद मां को दस से पंद्रह मिनट लेटना चाहिए। इस समय लघुशंका नहीं जाना चा​हिए। स्पर्म या शुक्राणु को गर्भाशय ग्रीवा में जाने के लिए इतना समय चाहिए होता है। कुछ लोग कहते हैं कि इस समय मां के पैरों को तकिया लगाकर थोड़ा उपर उठा देना चाहिए।

READ  कुछ इस नजर आईं शिल्पा शेट्टी मालदीव में बीच के किनारे,देखे तस्वीरें।

4. तनावमुक्त रहें: घर,परिवार,दुनिया की बातें सुनकर परेशान न हों। परेशान होने से पति और प​त्नी दोनों के शरीर सहज नहीं रहते। इससे पत्नी के शरीर में अंडे बनने की प्रक्रिया भी प्रभावित हो सकती है। इसलिए प्रयास करें पर हौसला बनाए रखें। औरों की कम सुनें। प्रकृति यह काम करोड़ों बरस से करती आ रही है आपके मामले में भी यही होगा बस बिना तनाव के कोशिश करें।

5. स्वस्थ जीवन बिताएं: स्वस्थ शरीर होने पर ही पिता के शरीर में स्वस्थ शुक्राणु बनेंगे तभी वे गर्भधारण करा पाएंगे। इसी तरह मां स्वस्थ रहेगी तभी अंडे का अंकुरण मजबूती से हो पाएगा वरना निषेचन के बाद भी गर्भ नहीं टिकेगा।