जानिए क्या हुआ जब आजम खां ने पकड़ लिया योगी जी का हाथ

0
358

सपा नेता आजम खान को आप ने हमेशा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर शब्द बाण चलाते हुए देखा और सुना हेागा। लेकिन गुरुवार को विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान जिसने भी योगी और आजम को देखा सन्न रह गया। दोनों एक एक दूसरे का हाथ पकड़ कर सदन में पहुंचे।

शीतकालीन सत्र की शुरूआत
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने गुरुवार 14 दिसंबर को 17वीं विधानसभा के पहले शीतकालीन सत्र का आयोजन किया था, जिसके तहत राजधानी लखनऊ स्थित विधानसभा में शीतकालीन सत्र की कार्यवाही शुरू हुई थी। हालांकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को सर्वदलीय बैठक का आयोजन किया था, जिसमें विपक्ष सहित सभी दलों के नेताओं को आमंत्रित किया गया था और सदन चलाने के लिए आपसी सहमती पर विचार किया गया।

विपक्ष ने पहले कर ली बैठक
योगी द्वारा सर्वदलीय बैठक करने के पहले विपक्ष दलों ने भी अपनी बैठक कर विचार विमर्श किया। जिसमें शीतकालीन सत्र में सरकार को कई मुद्दों पर घेरने की रूपरेखा तैयार की गयी थी। गौरतलब है कि, सपा नेता आजम खान अक्सर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेकर निशाना साधते रहते हैं, लेकिन गुरुवार को विधानसभा में एक हैरान करने वाला वाक्या हुआ।

आजम योगी ने पकड़ा हाथ
गुरुवार को जिसने भी विधानसभा में योगी और आजम को देखा वो हैरान रह गया। सामान्य मुदृदों पर एक दूसरे का विरोध करने वाले नेता एक साथ दिखे। शीतकालीन सत्र के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार का नेतृत्व करने के लिए सदन जा रहे थे। जैसे ही वो विधानसभा की गैलरी में पहुंचे, उसी वक्त समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान भी गैलरी में पहुंच गए। जिसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और आजम खान एक-दूसरे से मिले और साथ ही विधानसभा के लिए जाने लगे। इस दौरान सपा नेता आजम खान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक-दूसरे का हाथ भी पकड़े रहे।

READ  राहुल गांधी की शादी हो रही है इस MLA लड़की से, शादी की तैयारियां शुरू हो चुकी है

हंगामे के बीच सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित
गुरुवार से शीतकालीन सत्र के तहत विधानसभा की कार्यवाही शुरू की गयी थी, लेकिन विपक्षी दल सुबह से ही लगातार हंगामे पर हंगामा कर रहे थे। गौरतलब है कि, यह हंगामा दोनों ही सदनों में जारी था। जिसके तहत विधानसभा अध्यक्ष ने दोनों सदनों की कार्यवाही को शुक्रवार तक के लिए स्थगित कर दिया है।

योगी सरकार के दो विधेयक
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने गुरुवार को 17वीं विधानसभा के पहले शीतकालीन सत्र का आयोजन किया था। जिसके तहत विपक्ष के हंगामे और 15 मिनट के स्थगन के बाद विधानसभा की कार्यवाही को दोबारा शुरू किया गया था। जिसके बाद योगी सरकार ने सदन में विधेयकों को पेश किया। योगी सरकार ने हंगामे के बीच विधानसभा के पटल पर दो विधेयक रखे। जिनमें से एक विधेयक प्रयागराज मेला प्राधिकरण अध्यादेश और सहकारी समिति संशोधन अध्यादेश को पटल पर रखा गया।