डॉक्टरों ने किया साफ: इस जानवर का मांस खाना सबसे खतरनाक, सड़ जाती है पूरी आंत,लग जाते हैं कीड़े जानकर चौंक जायेंगे आप

0
630

आंत की बीमारी और कैंसर के रोगियों की संख्या में अप्रत्याशित ढंग से इजाफा हो रहा है। इन रोगों का कारण अत्यधिक मांसाहार बताया जा रहा है। इससे लोग पेट की भयानक बीमारियों के शिंकजे में आ रहे हैं।

गंभीर किस्म के उदर रोग मारक भी साबित हो रहे हैं। कैंसर, खतरनाक तरह का अल्सर, इरिटेबल बाउल सिंड्रोम, कोलाइटिस समेत कई पेट रोग लोगों की जिंदगी को कम कर रहे हैं। इसके साथ ही मांस, चमड़ी व खून के रोगों में भी इजाफा हो रहा है। डॉक्टरों का कहना है कि लाल मीट यानि बीफ खाने से पेट की आंते खराब हो जाती है। यहां तक कि सड़ भी जाती है।

डॉक्टरों ने किया साफ: इस जानवर का मांस खाना सबसे खतरनाक, सड़ जाती है पूरी आंत,लग जाते हैं कीड़े

सरकारी व निजी अस्पतालों में उदर के गंभीर रोगियों की तादाद अप्रत्याशित तौर पर बढ़ गई है। उदर रोग विशेषज्ञ डॉ. विपुल कंडवाल कहते हैं कि अत्यधिक मांसाहार के बहुत अधिक नुकसान होते हैं। हमारे शहर में भी यह देखने में आ रहा है कि जो लोग बहुत अधिक मांस खाते हैं, उनको पेट, आंत व लीवर की दिक्कत आ रही है।

यहां तक कि कैंसर जैसा खतरनाक रोग भी हो रहा है। मेरा अनुभव है कि जो लोग मांस का जरूरत से ज्यादा सेवन करते हैं, उनको उदर की गंभीर बीमारियां हो रही हैं। एक तो गोश्तखोरी बहुत वैज्ञानिक नहीं है। दूसरे इस समय मांस भी क्वालिटी में भी अच्छा नहीं है। डॉ. कंडवाल कहते हैं कि लोग मांसाहार तो करते ही हैं, साथ ही ऐसा भोजन बहुत अधिक मसालेदार व वसायुक्त होता है।

सीनियर फिजीशियन का कहना है कि पुराने समय में लोगों की जीवन शैली पूरी तरह से अलग थी। वे बहुत अधिक शारीरिक श्रम करते थे जिस कारण वे मांस पचा लेते थे। इसके अलावा आबादी बहुत कम थी। जीवन में दबाव नहीं था। लेकिन अब हालात पूरी तरह से विपरीत हैं। हर तरह का प्रदूषण बहुत बढ़ गया है। जानवर भी जो भोजन कर रहे हैं, जिस तरह से उनको पाला जा रहा है, वह बहुत नुकसान पहुंचाने वाला है। मांस में बहुत अधिक रासायनिक तत्व मौजूद हैं। केमिकल युक्त मांस तो सेहत के लिए खतरनाक है।

READ  जापान की लड़कियां क्यों नहीं होती मोटी, दिखती है पतली और खूबसूरत, आप भी जानिए तरीका