पोस्ट ऑफिस के पैसे पर सरकार देती है गारंटी, बैंक में सिर्फ 1 लाख ही सेफ वजह जानकार आप हो जायेंगे हैरान

0
297
पोस्ट ऑफिस के एक-एक पैसे पर सरकार देती है गारंटी, बैंक में सिर्फ 1 लाख ही सेफ

 

नई दिल्ली। हममें से ज्यादातर लोग अपना पैसा बैंकों में इसलिए रखते हैं, जिससे उनका पैसा सुरक्षित रहे और उन्हें गारंटेड रिटर्न मिले। आसमतौर पर इंडिया में तो यही चलन है। यह पैसा एफडी, आरडी, सेविंग या करंट अकाउंट में हो सकता है। लेकिन आपको बता दें कि बैंक भी उन्हीं फाइनेंशियल प्रोडक्ट में शामिल है, जो पूरी तरह से सुरक्षित नहीं है। बेंकों में आपके सिर्फ 1 लाख रुपए जमा पर सुरक्षा की गारंटी मिलती है।

लेकिन एक विकल्प ऐसा है, जहां एक-एक पैसे पर सरकार सुरक्षा की गारंटी लेती है। यह विकल्प है पोस्ट ऑफिस। पोस्ट ऑफिस स्कीम पूरी तरह से सरकार की स्कीम है, जहां आपके पैसे पर सरकार सुरक्षा की गारंटी देती है। खास बात है कि पोस्ट ऑफिस की स्कीम पर बाजार में होने वाली हलचल का कोई असर नहीं होता है। सरकार की ओर से ही हर स्कीम के तहत ब्याज दरें तय की जाती हैं। आगे पढ़ें, क्यों पोस्ट ऑफिस में आपका एक-एक पैसा है सेफ………

क्यों बैंक से सेफ है पोस्ट ऑफिस


1.
अगर बैंक डिफाल्ट कर जाए:
अगर कोई बैंक डिफॉल्‍ट कर जाता है तो सोचिए उस स्थिति में अकाउंट होल्‍डर्स के पैसों का क्या होगा। ऐसी स्थिति में अकाउंट होल्डर्स के सिर्फ 1 लाख रुपए जमा पर ही बैंक गारंटी लेते हैं। यानी अगर आपका जमा 1 लाख से ज्यादा है, तो 1 लाख से ऊपर की रकम पर सुरक्षा की कोई गारंटी नहीं है। DICGC एक कस्टमर के अधिकतम सिर्फ 1 लाख रुपए की ही गारंटी देता है, यह नियम बैंकों की हर ब्रांच के लिए लागू है।

READ  सावधान:देखे ये हैं 2017 में हैक हुये 100 सबसे ज्यादा खराब पासवर्ड, तुरंत बदलें

अगर पोस्टल डिपार्टमेंट रकम लौटाने में फेल हो:पोस्ट ऑफिस के जमा पैसों पर सॉवरेन गारंटी होती है। यानी किसी परिस्थिति में अगर पोस्टल डिपार्टमेंट निवेशकों का रकम लौटाने में फेल हो जाए तो यहां सरकार आगे बढ़कर निवेशकों के पैसों की गारंटी लेती है। यानी किसी स्थिति में आपका पैसा फंसने नहीं पाता है।

2.
बैंक में जमा पैसों का इन कामों में इस्तेमाल:
बैंक में जमा पैसों का इस्तेमाल बैंक अपने ऑपरेशंस को बढ़ाने में करते हैं। वहीं, इन्हीं पैसों से आम लोगों या कॉरपोरेट को लोन दिया जाता है। कई बार बैंक का ऑपरेशन घाटे में होता है या बड़ा लोन लेकर लोग डिफाल्ट कर जाते हैं। मसलन शराब कारोबारी बैंकों से 9000 करोड़ रुपए लोन लेकर फरार हैं। वहीं, हाल ही में पीएनबी में 12700 करोड़ के फ्रॉड का मामला सामने आया है। ऐसे में बैंकों का कारोबार घाटे में चला जाता है।

पोस्ट ऑफिस के पैसों का इन कामों में इस्तेमाल:पोस्ट ऑफिस स्कीम में जमा पैसों का इस्तेमाल सरकार अपने कामों के लिए करती है। इसी वजह से इन पैसों पर सरकार गारंटी भी देती है।
आगे पढ़ें, पोस्ट ऑफिस स्कीम में बैंकों से ज्यादा फायदा……….

1. KVP (किसान विकास पत्र)

ब्‍याज दर : 7.3% वार्षिक (वार्षिककंपाउंडेड)

खासियत :यहां पर निवेश 118 महीने में डबल हो जाता है। न्‍यूनतम निवेश 100 रुपए से शुरू होता है, लेकिन अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है। इस स्‍कीम से पैसा बीच में निकालने की छूट है। यह मौका 2 साल बाद और फिर ढाई साल बाद मिलता है।

READ  रांची में बुराड़ी जैसा कांड, एक ही परिवार के 7 लोगों ने की आत्महत्या

2. पोस्‍ट ऑफिस टॉइम डिपॉजिट (TD)
ब्‍याज दर :1 साल के लिए 6.6%, दो साल के लिए 6.7%, तीन साल के लिए 6.9% और 5 साल के लिए 7.4% हैं। (क्‍वाटरलीकंपाउंडेड)

खासियत :अगर इस स्‍कीम में 10 साल के लिए 1000 रुपए लगाया जाए तो 2082 रुपए हो जाएगा। इतना जल्‍द पैसा कहीं भी गारंटी के साथ डबल नहीं हो रहा है। इस स्‍कीम में अगर पैसा 5 साल के लिए जमा किया जाता है तो उस पर सेक्‍शन 80 C के तहत इनकम टैक्‍स की छूट भी मिलती है। यहां पर न्‍यूनतम 200 रुपए जमा किया जा सकता है।

3. NSC (नेशनल सेविंग सार्टिफिकेट)

ब्‍याज दर :7.6% वार्षिक (वार्षिक कंपाउंडिड)
खासियत :इस स्‍कीम में 5 साल के पैसा लगाना पड़ता है। यहां पर न्‍यूनतम 100 रुपए का निवेश किया जा सकता है, हालांकि अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है। इस निवेश पर इनकम टैक्‍स की छूट भी मिलती है। यहां पर अगर 100 रुपए का निवेश किया जाए तो 5 साल बाद वह 144.23 रुपए हो जाएगा। यह निवेश 10 साल में डबल से कुछ ज्‍यादा हो जाता है।
आगे पढ़ें, पोस्ट ऑफिस की 2 और स्कीम……..

4. PPF (पब्लिक प्राबिडेंड फंड)

ब्‍याज दर :7.6% वार्षिक (वार्षिक कंपाउंडिड)
खासियत :इस स्‍कीम में निवेश पर इनकम टैक्‍स की छूट ली जा सकती है। यह अकाउंट 15 साल के लिए खुलता है। इससे पहले इसे बंद नहीं कराया जा सकता है, हालांकि बीच में कुछ खास जरूरतों के लिए इससे पैसा निकाला जा सकता है। इस अकाउंट में अगर हर माह 1000 रुपए 15 साल तक जमा कराया जाए तो यह 339,863 रुपए हो जाएगा। इस 15 साल में आप जमा करेंगे 159,863 रुपए और ब्‍याज के रूप में मिलेगा 180,000 रुपए। इस स्‍कीम में न्‍यूनतम 500 रुपए जमा कराया जा सकता है, लेकिन एक वित्‍तीय साल में 1.5 लाख रुपए से ज्‍यादा जमा नहीं कराया जा सकता है।

READ  चाणक्य नीति से जाने किसी व्यक्ति को कैसे करें वश में

5. रेकरिंग डिपॉजिट (आरडी)
ब्‍याज दर :6.9% वार्षिक (क्‍वाटरली कंपाउंडिड)
खासियत :पोस्‍ट आफिस में RD काफी प्रचलित जमा योजना है। इस योजना के तहत लोग हर माह न्‍यूनतम 10 रुपए महीना भी जमा कर सकते हैं। हालांकि अधिकतम जमा की कोई सीमा नहीं है। यहां पर अगर 10 रुपए हर माह 5 साल तक जमा किए जाएं तो यह 717.4​3 रुपए हो जाते हैं।