मृत्यु के पश्चात कहां जाती हैं आत्मा, जानकर रह जाएंगे हैरान

0
438

आज हम आपको गरुड़ पुराण के अनुसार जीवन मृत्यु के अद्भुत रहस्य के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका समावेश हमें गरुड़ पुराण से मिलता है। प्राचीन समय में जब पक्षीराज गरुड़ ने भगवान विष्णु को अपनी आराधना से प्रसन्न कर लिया था तब भगवान श्री हरि विष्णु ने प्रसन्न होकर के गरुड़ को जन्म मृत्यु से संबंधित रहस्य के बारे में बताया था जिन के कुछ अंश हम आपको यहां पर बताने जा रहे हैं।

कैसे निकलते हैं मनुष्य के प्राण:

गरुड़ पुराण के अनुसार कहा जाता है कि मनुष्य के प्राण निकलने से पहले उसकी आवाज चली जाती है और उसका शरीर हिलने-डुलने में असमर्थ हो जाता है।

साथ ही कहा जाता है जिस समय यमराज के यमदूत जब उस मनुष्य को लेने आते हैं। तो उनका रूप अति विशाल डरावना होता है जिसे देख कर के मनुष्य वही मल मूत्र का त्याग देता है।

कैसे होता है यमलोक में गमन:

जब यमराज के यमदूत अपने पास में बांध कर के उस मनुष्य की आत्मा को यमपुरी में ले जाते हैं तो यमपुरी में पहुंचने से पहले पापा आत्माओं को बहुत भयंकर प्रकार के कष्टों से होकर गुजरना पड़ता है। और वह दुखी आत्मा इन कष्टों को सहन करती हुई यमलोक में गमन करती हैं यह कष्ट 16 प्रकार के बताए गए जो की बहुत दुखदाई होते है।

क्या-क्या होता है आत्माओं के साथ:

गरुड़ पुराण के अनुसार बताया गया है कि इन आत्माओं को यमलोक की नगरी में पहुंचने से पूर्व वैतरणी नदी को पार करना पड़ता है। और इस नदी में रक्त और मवाद बहता है तथा इसका जो किनारा है वह हड्डियों से भरा हुआ होता है तथा इस गहरी और विशाल नदी में बहुत विशाल और डरावनी जीव होते हैं। इस नदी को पार कराने में एक प्रेत का सहयोग मिलता है जो की आत्मा के द्वारा किए गए कर्मों के अनुसार उसे नदी पार कराता है।

READ  पीपल के पेड़ का एक पत्ता देता है इतने सारे फायदे की जानकर हैरान रह जायेगे