विचित्र घटना :24 घंटे मे दिया सात बच्चों को जन्म तस्वीरे देख चौक जाएंगे आप

0
404

मुरैना। भगवान भी कभी-कभी अलग ही संयोग बना देता है। मुरैना के जिला अस्पताल में भी दो दिनों के भीतर अलग-अलग संयोग देखने को मिले। यहां पर दो महिलाओं ने तीन और चार बच्चों को जन्म दिया। इन दोनों ही मामलों में नवजात के जेंडर एक ही हैं। इस मामले को देखने के बाद में कमला राजा अस्पताल (ग्वालियर) की गायनिक विभाग की प्रमुख डॉ. ज्योति बिंदल ने बताया है एक बार में तान से चार बच्चों का एक साथ जन्म लेना अपने आप में ही एक असमान्य घटना है।

 

 

बच्चों के जेंडर हैं एक

बीते दिनों रामपहाड़, सबलगढ़ की सपना ने चार बेटियों को जन्म दिया। उसे पहले दो बेटियां हैं। एक सात साल की, दूसरी दो साल की। मजदूरी करने वाले पति अमर सिंह राठौर ने बताया कि सोनोग्राफी से पता चला था कि गर्भ में चार बच्चे हैं। वहीं दूसरी गिरिजा पति सूर्यभान जादौन (किशोरगढ़, सबलगढ़) ने उसी अस्पताल में तीन बेटों को जन्म दिया। यह उसका पहला प्रसव था। जिला अस्पताल के डॉ. बनवारीलाल गोयल के अनुसार बच्चों का वजन सामान्य (2.5 किलो) से कम है, इसलिए सभी को एसएनसीयू में भर्ती किया गया है। सभी को उचित देखरेख में रखा गया है।

दवाइयों से बढ़ जाती है संभावना

मुरार अस्पताल की गायनिक प्रभारी डॉ. साधना शिवहरे के मुताबिक जिन महिलाओं के कई सालों तक बच्चे नहीं होते हैं वे दवाइयां लेना शुरू कर देती हैं। इन दवाइयों को लेने के बाद एक बार में तीन से अधिक बच्चों के जन्म लेने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। इन मामलों में नवजात के जेंडर एक होने पर परेशानी की कोई बात नहीं होती है।

READ  बॉलीवुड के ये कलाकार हो चुके हैं ‘कास्टिंग काउच’ के शिकार जानिए नाम

क्यों होते हैं जुड़वां बच्चे

1.जो महिलाएं प्रेग्नेंट होने के लिए I.V.F का सहारा लेती है यानी की fertility दवाएं खाती हैं उन्हें जुड़वां बच्चे होने के Chances ज्यादा रहते हैं. दरअसल I.V.F Method में Uterus में एक से ज्यादा egg रखे जाते हैं, और Fertility medicine की वजह से भी एक से ज्यादा Egg बनते हैं।

2.30 से 40 साल की उम्र की महिलाओं में जुड़वां होने के chances ज्यादा रहते हैं। Doctors बताते हैं कि इस age में Female ovary का function बदल जाता है और एक से ज्यादा egg Produce होने लगते हैं।

3. जुड़वां बच्चे होने में Place का भी इफ़ेक्ट पड़ता है जैसे West African Country में सबसे ज्यादा जुड़वां बच्चे होने के मामले सामने आते हैं। इसकी वजह वहां का Habitat और Environment है।