गुस्साए किसानों ने किया दिल्ली रोड किया जाम।

0
57

मेरठ के परतापुर में दो दिन पहले परतापुर क्षेत्र में के दो गांवों में विद्युत विभाग द्वारा छापेमारी करते हुए तीन दर्जन से अधिक ग्रामीणों पर दर्ज कराए गए मुकदमे को लेकर भाकियू में आक्रोश है। शनिवार को भाकियू नेताओं के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों ने दिल्ली रोड पर जाम लगाते हुए परतापुर थाने में धरना दे दिया। किसान नेताओं ने ग्रामीणों पर दर्ज हुए मुकदमे को वापस लिए जाने की मांग उठाई है।
बताते दें कि दो दिन पहले विद्युत विभाग की टीम ने परतापुर के कंचनपुर घोपला और जैनपुर गांव में पांच थानों की पुलिस के साथ छापा मारा था। इस दौरान विद्युत विभाग की टीम ने कई घरों में बिजली चोरी पकड़ते हुए बकाया बिल का भुगतान ना करने वालों को भी चिन्हित किया था।
इसी के साथ 41 लोगों के खिलाफ परतापुर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इनमें से अधिकांश किसान भारतीय किसान यूनियन के समर्थक थे।
घटना से गुस्साए भारतीय किसान यूनियन के नेता विजयपाल घोपला और एडवोकेट गौरव चौधरी शनिवार को दर्जनों ट्रैक्टर ट्रॉलियों में सवार सैकड़ों किसानों की भीड़ लेकर परतापुर थाने पहुंचे। किसानों ने ग्रामीणों के ऊपर दर्ज हुए मुकदमे का विरोध करते हुए परतापुर थाने में धरना दे दिया।

इसी के साथ दिल्ली रोड पर आड़ी-टेढ़ी ट्रैक्टर ट्रॉली खड़ी करते हुए किसान जाम लगा कर बैठ गए। मामले की जानकारी मिलने पर एसीएम ब्रह्मपुरी संदीप श्रीवास्तव और सीओ अमित राय धरनारत किसानों के बीच पहुंचे। जहां अधिकारियों ने किसानों को समझाने की कोशिश की। मगर किसान नेताओं ने ग्रामीणों पर दर्ज हुए मुकदमे वापस ना देने तक वहीं डटे रहने का ऐलान कर दिया।

किसान नेता विजयपाल घोपला ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार ने लाखों किसानों का गन्ने का भुगतान अब तक नहीं किया है। वहीं एमडीए से मुआवजे की मांग को लेकर सैकड़ों किसान परतापुर क्षेत्र में पांच साल से धरना दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यदि प्रशासन किसानों के गन्ने का भुगतान और मुआवजा तत्काल दिला दे तो किसान भी अपना बिजली का बकाया बिल जमा कर देंगे। इस दौरान किसानों और अधिकारियों के बीच तीखी नोकझोंक हुई। दोपहर बाद तक किसान दिल्ली रोड पर जाम लगाए बैठे थे।

Leave a reply