तालिबान बोला, अफगानिस्तान में इस्लामी राज कायम करेंगे, हम किसी से बदला नहीं लेंगे।

0
88

अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद तालिबान प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद मंगलवार को पहली बार दुनिया के सामने आया। मुजाहिद तालिबान की संस्कृति परिषद का प्रमुख भी है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में जबीउल्लाह ने कहा- हम किसी के प्रति नफरत की भावना नहीं रखेंगे। हमें बाहरी या अंदरूनी दुश्मन नहीं चाहिए। तालिबानी नेता जलालाबाद में स्ट्रैटजी पर चर्चा कर रहे हैं। दोहा में भी मीटिंग चल रही है। हमें अफगानिस्तान को आजाद कराने का गर्व है।अफगानिस्तान की जमीन का इस्तेमाल किसी भी देश के खिलाफ नहीं होने दिया जाएगा जबीउल्लाह ने कहा, अपने नेता के आदेश पर हमने सभी को माफ कर दिया है। हम सभी की सुरक्षा की गारंटी लेते हैं। सभी दूतावास सुरक्षित हैं। मौजूदा परिस्थितियों में मैं अंतरराष्ट्रीय समुदाय और संयुक्त राष्ट्र को ये भरोसा देना चाहता हूं कि अफगानिस्तान में सब सुरक्षित हैं। अफगानिस्तान की जमीन का इस्तेमाल किसी भी देश के खिलाफ नहीं होने दिया जाएगा। हम दुनिया को ये भरोसा देते हैं कि हमारी जमीन से आपको नुकसान पहुंचने नहीं दिया जाएगा।

हमारे नियमों और सिद्धांतों से किसी को चिंता नहीं होनी चाहिए

जबीउल्लाह ने कहा, हमें अफगानिस्तान को आजाद कराने का गर्व है। हम अंतरराष्ट्रीय सीमाओं का सम्मान करते हैं। हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय को परेशान नहीं करना चाहते हैं। हमने बहुत बलिदान दिए हैं। हमें अपने धर्म के हिसाब से चलने का अधिकार है। दूसरे देशों में अलग नीतियां हैं, अलग धर्म हैं, अलग विदेशी नियम हैं। हम सभी के नियमों का सम्मान करते हैं। हम भी उसी तरह अपने मूल्यों के हिसाब से अपनी नीतियां बनाना चाहते हैं। किसी को हमारे नियमों और सिद्धांतों से चिंता नहीं होनी चाहिए। तालिबान प्रवक्ता ने कहा, इस्लामी अमीरात महिलाओं को शरीयत के हिसाब से अधिकार देगा। हमारी औरतों को वो अधिकार मिलेंगे, जो हमारे धर्म ने उन्हें दिए हैं। वो शिक्षा, स्वास्थ्य और अलग-अलग क्षेत्रों में काम करेंगी। अंतरराष्ट्रीय समुदायों को महिला अधिकारों को लेकर चिंता है, हम ये भरोसा देते हैं कि किसी के अधिकारों का उल्लंघन नहीं होगा। हमारी औरतें मुसलमान हैं, उन्हें शरीयत के हिसाब से रहना होगा।

Leave a reply