वर्दी वाला लुटेरा गिरफ्तार।

0
120

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद पुलिस ने एक खाकी वर्दी धारी को गिरफ्तार किया है, यह खाकी वर्दीधारी लुटेरा ख़ाकी वर्दी पहन कर पब्लिक ट्रांसपोर्ट से जुड़े वाहनों में सवार हो जाता था उन वाहनों में सवार यात्री वर्दी वाले को साथ में देख कर खुद को सुरक्षित महसूस करते थे लेकिन उन्हें क्या पता कि जो ख़ाकी वर्दी वाला उनके पास बैठा है दरअसल वो उन्हें सुरक्षा नही बल्कि उनके साथ अपराधिक घटना को अंजाम दे देगा, किसी भी ढाबे पर बस रुकने पर इस लूटेरे का कोई साथी इस वर्दीधारी लुटेरे के पास आता है और इससे सलाम दुआ करता है और फिर उसके लिए चाय बिस्किट लेकर आता है, साथ में बैठा यात्री समझता है कि वर्दीधारी का कोई परिचित है और उसे सम्मान में चाय नाश्ता करा रहा है, फिर यह वर्दीधारी उस चाय नाश्ते में से थोड़ा सा हिस्सा बराबर में बैठे यात्री को भी खिला देता है, उस चाय बिस्किट में पहले से ही कोई जहरीला पदार्थ मिला होता है जिस कारण यात्री बेहोश हो जाता है और यह खाकी वर्दीधारी लुटेरा अपने साथी के साथ उसका कीमती सामान व नकदी लेकर फरार हो जाता है।
मुरादाबाद पुलिस को काफी समय से यह सूचनाएं मिल रही थी कि बस में सवार यात्रियों के साथ वर्दी पहना कोई व्यक्ति अपराधिक घटनाओं को अंजाम दे रहा है यह व्यक्ति यात्रियों के साथ बस में घुल मिल कर बैठ जाता है और फिर उनसे संबंध बनाकर उन्हें नशीला पदार्थ या जहरीला पदार्थ मिला बिस्किट खिला कर उनके बेहोश होने के बाद उनका कीमती सामान और नकदी लेकर फरार हो जाता है, मुरादाबाद पुलिस इस ख़ाकी वर्दीधारी लुटेरे की काफी समय से तलाश थी, 13 जुलाई को मुरादाबाद पुलिस को एक स्क्रैप कारोबारी ने पुलिस को सूचना दी कि वह रामपुर डिपो की बस में बैठ कर गाज़ियाबाद से मुरादाबाद आ रहा था और उसके पास 4 लाख 65 हज़ार रुपये नगद थे इस दौरान बस में सवार खाकी वर्दीधारी मोहन शर्मा ने उसे ख़ुद को मुरादाबाद का बताकर दोस्ती कर ली, उसे नशीला बिस्किट खिला कर उसके 4 लाख 65 हज़ार रुपये गायब कर दिए और फ़रार हो गया, मुरादाबाद पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर आरोपी खाकी वर्दीधारी लुटेरे की तलाश शुरू कर दी, आज पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि मोहन शर्मा नाम का ख़ाकी वर्दीधारी लुटेरा फिर कोई घटना को अंजाम देने के लिए मेरठ जा रही रोडवेज की बस में सवार हुआ है, मुरादाबाद की पाकबड़ा थाना पुलिस ने रास्ते में ही बस रुकवा कर खाकी वर्दीधारी लुटेरे मोहन शर्मा को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी, हिरासत में आने के बाद मोहन शर्मा पुलिस के सामने टूट गया और उसने बताया कि उसका असली नाम हुकुम सिंह है और वह मेरठ दिल्ली गाजियाबाद आने जाने वाली बसों में सवार हो जाता है, लोग वर्दी देखकर उसके ऊपर विश्वास जमा लेते हैं और वह उन्हें अपने ही साथी की मदद से बिस्किट या किसी अन्य खाने के सामान में नशीला पदार्थ मिलाकर दे देता है जिससे वह व्यक्ति बेहोश हो जाता है और फिर ये उसका कीमती सामान में नकदी लेकर फरार हो जाते हैं, मुरादाबाद पुलिस ने खाकी वर्दीधारी लुटेरे मोहन शर्मा उर्फ़ हुकुम सिंह से स्क्रैप व्यापारी से लूट गए रुपये में से 50 हज़ार रुपये भी बरामद किए हैं, मुरादाबाद के पुलिस अधीक्षक नगर अमित आनंद के मुताबिक अब मुरादाबाद पुलिस चौकी वर्दीधारी लुटेरे के अपराधिक इतिहास की जानकारी निकाल रही है कि यहां से पहले ये कहां-कहां से जेल गया है और कितनी अपराधिक घटनाओं को अंजाम दे चुका है।

Leave a reply