15 अगस्त को लेकर सेना हुई अलर्ट, कैंट में आने जाने वाले पर होगी सेना की नजर।

0
49

मेरठ। 15 अगस्त को लेकर खुफिया एजेंसियों से मिले इनपुट के बाद मेरठ सहित पश्चिमी उप्र की सभी सेन्य छावनियों में बड़ा अलर्ट जारी किया गया है। इन छावनियों में मेरठ छावनी, बाबूगढ छावनी, सहारनपुर के बेस कैंप शामिल हैं। खुफिया एजेंसियों को अंदेशा है कि सेन्य छावनियों में आतंकी ड्रोन के जरिए बड़ी आतंकी साजिश को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं। इसी को लेकर अब एजेंसियों ने इन छावनियों को सतर्क किया है। वहीं दूसरी ओर पुलिस ने भी स्वतंत्रता दिवस को लेकर सावधानी बरतनी शुरू कर दी है। रेलवे स्टेशन, रोडवेज स्टैंड और भीड़भाड़ वाली जगहों के अलावा शहर के प्रमुख बाजारों और संवेदनशील कस्बों पर विशेष सतर्कता बरती जा रही है। वहीं स्थानीय खुफिया पुलिस और थानाध्यक्षों को भी सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। एडीजी राजीव सब्बर वाल ने जोन के सभी पुलिस अधिकारियों को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रखने के निर्देश दिए गए हैं। सुरक्षा एजेंसी ने आगाह किया है कि आतंकी 15 अगस्त से पहले ड्रोन के जरिए हमले की साजिश रच सकते हैं।
बता दें कि एक तरफ जहां एजेंसियों का अलर्ट है तो वहीं मेरठ स्थित छावनी में सेना ने ड्रोन हमले से निपटने की तैयारी भी शुरू कर दी है। ड्रोन हमले से निपटने के लिए स्थानीय पुलिस को भी विशेष ट्रेनिंग दी गई है। 15 अगस्त तक सुरक्षा पुख्ता करते हुए सेना ने छावनी इलाके में फ्लाइंग ऑब्जेक्ट को उड़ाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। असामाजिक तत्व और आतंकी खतरे को देखते हुए ये कदम उठाया है। हर आने जाने वाले पर छावनी में नजर मेरठ कैंट इलाके में कई बड़ी कालोनियां भी है। जिनमें लाखों लोग निवास करते हैं ।ऐसे में सेना ने रिहायशी इलाके के अलावा अन्य क्षेत्रों में गश्त तेज कर दी है। सेना की खुफिया विंग हर आने—जाने वाले पर नजर रख रही है। वहीं छावनी में रात में गश्त तेज कर दी गई है। डोगरा लाइंस, भगत लाइन, बीआई लाइन से होकर जाने के लिए कड़ी पूछताछ से लोगों को गुजरना पड़ रहा है।

Leave a reply