नवजात शिशुओं को बेहतर इलाज दिलाने के लिए कार्यक्रम का आयोजन

0
44

मेरठ। IAP यानी इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स व NNF यानी नेशनल न्युनोटोलाजी ऑफ फोरम द्वारा नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य व इनसे जुड़े डाक्टर व मैडिकल स्टाफ की ट्रेनिंग और पाठ्यक्रम में परिवर्तन व संशोधन को लेकर दो दिन की वर्कशॉप आयोजित की जा रही है।
शुक्रवार को आईएमए भवन में आयोजित पत्रकार वार्ता में डाक्टर राजीव प्रकाश ने जानकारी दी कि उनके द्वारा नवजात शिशुओं को लेकर एक राष्ट्रीय स्तर की कांन्फ्रेंस आयोजित की जा रही है। इसका उद्देश्य शिशुओं से जुड़ी बीमारियां और उनपर की गई रिसर्च को उजागर करना है। अक्सर देखने में आया है कि छोटे बच्चों खासकर नवजात शिशुओं में जब कोई बीमारी सामने आती हैं तो उसे पहचानने में परेशानी होती है। क्योंकि बच्चा कुछ बोल नहीं पाता तो ऐसे में उसकी बॉडी लैंग्वेज व हाव-भाव को देखकर इलाज किया जाता है। ऐसे में बच्चों की बीमारी को डाईग्नोज़ करना बेहद चुनौतीपूर्ण होता है। कार्यशाला में पूरे देश के विभिन्न राज्यों से बच्चों की बीमारियों से जुड़े डाक्टर व मैडिकल स्टाफ समेत रिसर्चर शामिल होने वाले हैं। यह सभी अपने अनुभव को साझां करेंगे। इसके साथ ही वर्चुअली तरीके से विदेशों से भी डाक्टर व मैडिकल स्टाफ व अन्य संस्थाओं के लोग वर्कशॉप में हिस्सा लेंगे।

Leave a reply

en_USEnglish