पश्चिम उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल ने सात सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा

0
85

मेरठ।पश्चिम उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष पं0 आशु शर्मा के नेतृत्व में संगठन के पदाधिकारियों ने व्यापारियों की विभिन्न समस्याओं को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय पर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया तथा मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सोपा।

संगठन के प्रदेश अध्यक्ष पं0 आशु शर्मा ने बताया कि व्यापारी आज बदहाल स्थिति में है सरकार के द्वारा किसी भी प्रकार की मदद व्यापारी समाज के लिए नहीं की गई सभी प्रकार का टैक्स देने वाला व्यापारी आज आत्महत्या की स्थिति पर खड़ा है।लॉकडाउन के दौरान व्यापारियों पर दर्ज मुकदमे भी अभी वापस नहीं हुए पिछले वर्ष मुख्यमंत्री ने आदेश करा था। परंतु पिछले वर्ष के मुकदमे भी वापस नहीं हो पाये इस वर्ष भी बड़ी संख्या में व्यापारियों पर लॉकडाऊन उलंघन के मुकदमे दर्ज कर व्यापारियों को अपराधी बनाने की साजिश की गई। शनिवार तथा रविवार 2 दिन का लॉकडाउन व्यापारियों की कमर तोड़ने का काम कर रहा है।पश्चिम उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल के द्वारा 7 सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश को मांग पत्र दिया गया जिसमे उन्होंने मांग करते हुए कहा है कि व्यापारियों को तत्काल राहत पैकेज की घोषणा की जाए।लॉकडाउन के दौरान व्यापारियों पर दर्ज मुकदमो को तुरंत वापस लिया जाए।व्यापारियों का पांच लाख तक का सरकारी योजनाओं से लिया गया लोन माफ किया जाए।
व्यापारियों के बंद दुकानों का बिजली का फिक्स चार्ज माफ किया जाए। व्यापारियों को 25 लाख रुपए तक का लोन बिना बैंक गारंटी के सब्सिडी के आधार पर दिया जाये। व्यापारियों के बैंक लोन की किस्त पर पर लगी पेनल्टी माफ की जाए।शनिवार तथा रविवार का लॉकडाउन समाप्त किया जाए।
पं0 आशु शर्मा ने कहा कि सरकार पूर्ण रूप से व्यापारी विरोधी कार्य कर रही है पश्चिम उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल किसी भी सूरत में व्यापारियों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं करेगा अगर जल्द ही व्यापारियों की समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो संगठन सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई का ऐलान करेगा।

Leave a reply

en_USEnglish