फिल्म काली की निर्देशक पर केस दर्ज करने की मांग:मेरठ में सामाजिक संगठन ने पीएम को भेजा पत्र, कहा- लीना मनिमेकलाई की गिरफ्तारी हो

0
93

मेरठ के गुरु गोरखनाथ कामधेनु गौ सेवा समिति ओर गौरक्षा सेवा समिति के सदस्यों ने फिल्म काली की निर्देशिका और पूरी टीम की गिरफ्तारी की मांग की है। मेरठ में सामाजिक संगठनों ने डीएम के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना मांग पत्र भेजा है। इस मांग पत्र में फिल्म काली की रिलीज पर रोक लगाने और निर्माताओं पर हिन्दू धर्म के लोगो की भावनाओ को ठेस पहुंचाने को लेकर मुकदमा दर्ज करने और उनकी गिरफ्तारी की मांग की गई है।

हिंदुओं की भावनाओं को आहत किया
कामधेनु गौ सेवा समिति के संस्थापक सुशील वर्मा ने बताया कि विगत 2 जुलाई 2022 को लीना मनिमेकलाई द्वारा अपनी फिल्म ” काली” का पोस्टर रिलीज किया गया था जिसे उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से जारी किया था। इस पोस्टर में माँ भद्रकाली को सिगरेट पीते हुए बड़े ही अभद्र तरीके से दर्शाया गया है जिससे करोड़ो सनातनियो ओर माँ भद्रकाली में आस्था रखने वालो की भावनाएं आहत हुई है।

निर्देशिका के साथ पूरी टीम को गिरफ्तार किया जाए
गौ रक्षा सेवा समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नितिन बालियान ने बताया कि इस पोस्टर पर लीना मनिमेकलाई के साथ साथ उनकी पूरी टीम को गिरफ्तार किया जाए। इसमें आशा पोत्रचन – निर्माता, श्रवन – सह लेखक एवं एडिटर, फतीन चौधरी – कैमरामैन, ऋषभ कालरा – कैमरामैन, पिरकाश कायकनस – कला, निद्रा रेडिरिगो – मेकअप, धरषि वारा – मेकअप कलाकार शामिल हैं। कहा कि ये वो समूह है जिसने विश्वभर में रह रहे सनातनियो एवं मां काली के उपासकों की भावनाओ को आहत कर देश का माहौल खराब करने की कोशिश की है।

सेंसर तय करे कि ऐसी फिल्में कभी न बनें
सदस्यों ने कहा कि काली की रिलीजिंग पर रोक के साथ सेंसर बोर्ड ये निर्देश भी लागू कर दे कि भविष्य में इस प्रकार की किसी भी फ़िल्म को मंजूरी ना दी जाए जिसमे किसी भी धर्म का उपहास उड़ाया जा रहा हो। यह मांग करने वालों में सुशील वर्मा, चौधरी नितिन बालियान, तान्या वर्मा, सोनिया कौशिक, केशव कुमार, मुकेश चौधरी, रामशरण सैनी, नितिन रोहटा, नरेशपाल चौधरी, मुकुल राणा, सोनू जोशी, निमित जैन, निहार लहरी, शिवम और अभय इत्यादि लोग मौजूद रहे।

Leave a reply

en_USEnglish