jagran

गांव के ही दो लोग मिलने आए थे

मवाना के ढिकोली निवासी 40 वर्षीय सतेंद्र पुत्र जगदीश कार को टैक्सी चलाकर स्वजन की जीविका चलाता था। शुक्रवार देर रात वह घर पहुंचा और खाना खाकर सो गया। स्वजन ने आरोप लगाया इस बीच गांव के दो लोग टिंकल व अमित आ गए और सतेंद्र से बात करने लगे। कुछ ही देर में विवाद हो गया और उन्होंने सतेंद्र के साथ मारपीट करते हुए सिर के पीछे नुकीले औजार से हमला कर हत्या कर दी। आरोपित फरार हो गए। सुबह सूचना पर पहुंचे इंस्पेक्टर विष्णु कौशिक ने शव मर्चरी के लिए भिजवाया। उधर, पुलिस ने दोनों लोगों को हिरासत में ले लिया है।

हत्या के कई घंटे बाद पुलिस को सूचना

मध्य रात सतेंद्र की हत्या हो गई लेकिन उस समय स्वजन ने कोई सूचना नहीं दी। रात भर सब के साथ रहे और पड़ोसियों को भी सूचना नहीं दी। जबकि सुबह 6 बजे 112 डायल पुलिस पर सूचना के बाद थाना पुलिस पहुंची। मृतक अपने पीछे मां, पत्नी व तीन लड़कियां छोड़ गया है। जिनका रो रो कर बुरा हाल था।