सेना के सूबेदार का बेटा बना लुटेरा।

0
70

मेरठ में एक परिवार ने अपने बेटे को नशे से आजादी दिलाने के लिए नशा मुक्ति केंद्र भेजा। लेकिन बेटा वहां अपराधी बन बैठा ।जी हां मेरठ पुलिस ने एक ऐसे ही गैंग का पर्दाफाश किया है जहां सेना में सूबेदार का बेटा अब लुटेरा बन बैठा है। नशा मुक्ति केंद्र में इस आरोपी का गठजोड़ अपराधियों से हो गया। जिसके बाद उसने शहर में लूट की वारदात को अंजाम देना शुरू कर दिया ।पुलिस की माने तो करीब आधा दर्जन थाना क्षेत्रों में इस गैंग में 10 से अधिक लूट की वारदातों को अंजाम दिया है।

मेरठ के थाना नौचंदी पुलिस ने बुलेट सवार लुटेरे गिरोह का पर्दाफाश किया है ।इस बुलेट गैंग ने मेरठ में आतंक मचा रखा है। मेरठ के नौचंदी रेलवे रोड लाल कुर्ती सदर बाजार समेत करीब आधा दर्जन थाना क्षेत्रों में लूट की 10 से भी अधिक वारदातों को अंजाम दिया है। पुलिस ने लूट के कुंडल और दूसरे आभूषण समेत तीन वाहन भी बरामद किए हैं ।जिसमें लूट के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली बुलेट मोटरसाइकिल भी शामिल है। एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि इस गैंग को बादल चौधरी नाम का सरगना चलाता है। जिसके पिता सेना में सूबेदार के पद पर तैनात हैं। दरअसल बादल चौधरी नशे का शिकार था। जिसके चलते परिजनों ने उसे नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती करा दिया। लेकिन यहीं से वह अपराधी बन बैठा । दरअसल नशा मुक्ति केंद्र में उसका अपराधियों से गठजोड़ हो गया। जिसके बाद जल्द से जल्द अमीर बनने की चाहत में इन लोगों ने लूट की वारदातों को अंजाम देना शुरू कर दिया। कुछ वारदातों के बाद जब इन्हें लूट की वारदात को अंजाम देने में मजा आने लगा और यह पेशेवर अपराधी बन बैठे। फिलहाल पुलिस इनसे पूछताछ के आधार पर गैंग के दूसरे सदस्यों की तलाश में लगी हुई है।

Leave a reply

en_USEnglish