Sardhana assembly seat: संगीत सोम के सामने फिर उतरे अतुल प्रधान, दिलचस्प है सियासी इतिहास

0
178

मेरठ। सरधना विधानसभा सीट उन विधानसभा सीटों में शामिल है जहां समाजवादी पार्टी दो आज भी पहली जीत की तलाश है। मेरठ की सबसे हॉट सीट सरधना विधानसभा किसी परिचय की मोहताज नहीं है सरधना सीट अपने प्राचीन चर्च के लिए भी जानी जाती है। यहां से दूसरी बार संगीत सोम विधायक हैं। 2022 विधानसभा चुनाव में भाजपा आलाकमान ने एक बार फिर संगीत सिंह सोम पर दाव चला है वहीं दूसरी ओर सपा से अतुल प्रधान मैदान में हैं।

आपको बता दें यह जोड़ी तीसरी बार चुनावी जंग में उतरी है इससे पहले अतुल प्रधान दो बार सपा से चुनाव लड़ चुके हैं और दोनों बार मात खाई है अब एक बार फिर संगीत सॉन्ग के सामने अतुल प्रधान दम भर रहे हैं। लेकिन देखना दिलचस्प होगा कि क्या जलता इतिहास कायम रखेगी या अतुल प्रधान को आशीर्वाद देगी।

यह सीट संप्रदायिक कि हादसे में काफी संवेदनशील है वैसे तो यह विधानसभा मेरठ जनपद का अहम हिस्सा है लेकिन लोकसभा चुनाव में यहां की जनता मेरठ हापुड़ लोकसभा की जगह मुजफ्फरनगर लोकसभा के लिए प्रत्याशी चुनती है।

सरधना सीट के इतिहास की बात करें तो सरधना विधानसभा सीट पर किसी एक दल का दबदबा नहीं रहा है। इस सीट पर बहुजन समाज पार्टी और भारतीय जनता पार्टी जीतते आए हैं। चुनावी अतीत की बात करें तो 2007 के विधानसभा चुनाव में बसपा के टिकट पर चंद्रवीर सिंह ने राष्ट्रीय लोक दल की तबस्सुम बेगम को हराया था तब बीजेपी के विजय पाल सिंह तीसरे स्थान पर रहे थे।

सियासी बिसात बिछ चुकी है जनता फैसला सुनाने के लिए तैयार है 10 फरवरी को होने वाले पहले चरण के मतदान में सरधना की जनता भी अपना फैसला सुनाएगी। मतगणना 10 मार्च को होनी है और तब तय होगा। कौन बनेगा मुख्यमंत्री..!

 

Leave a reply

en_USEnglish