चुनावी शंखनाद: दिलचस्प होगा मुकाबला, कई सीटों पर है कांटे की टक्कर

0
186

मेरठ। पश्चिमी युपी में चुनावी बिसात बिछ चुकी है नाकांकन के बाद प्रत्याशी जीत की ताल ठोक रहे हैं ऐसे में वेस्ट यूपी में राजनीति के केन्द्र मेरठ में कई सीटों पर मुलाबला कड़ा दिखाई दे रहा है। ऐसे में आरोपों का दौर जारी है वहीं नेताओं का अपनी सहुलियत के हिसाब से एक दल से दूसरे दल में आने जाने का सिलसिला भी जारी है। ऐसे में 10 फरवरी को होने वाले पहले चरण के मतदान के लिए पश्चिमी यूपी में तैयारियों जोरों पर हैं। इसी कड़ी में आज अमित शाह कैराना से जाट वोटों को साधने की कौशिश करेंगे। 10 फरवरी को होने वाले पहले चरण के मतदान के लिए नामांकन प्रकिृया पूरी हो चुकी हैं

अगर मेरठ की बात करें तो मेरठ में सात विधानसभा सीट हैं और कई सीटों पर मुकाबला दिलचस्प होने वाला हैं

 

जानें किस सीट से कौन आमने सामने

शहर विधानसभा सीट
यहां से भाजपा ने कमलदत्त शर्मा को मैदान में उतारा है। आम आदमी पार्टी से कपिल शर्मा और निर्दलीय से अशौक मैदान में हैं।

दक्षिण विधानसभा सीट
इस सीट पर वर्तमान में भाजपा के विधायक सोमेंद्र तोमर को वार्टी ने एक बार फिर मैदान में उतारा है। 2012 में वजूद में आई इस सीट पर बीजेपी का कब्जा रहा है। 2012 के पहले विधानसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी रविन्द्र भड़ाना ने जीत दर्ज की थी वहीं 2017 में सोमेंद्र तोमर विधायक बने। भाजपा आलाकमान ने 2022 के विधानसभा चुनाव के ​लिए एक बार फिर सोमेंद्र तोमर पर दांव चला है। यहां सोमेंद्र तोमर के सामने बसपा से दिलशाद अली मैदान में हैं। सर्वजन लोक शक्ति पार्टी से मुकेश जब्कि आम आदमी पार्टी ने आमदत्त को टिकट दिया है।

कैंट विधानसभा सीट
यहां भाजपा से पूर्व विधायक रहे ​अमिल अग्रवाल को पार्टी ने टिकट दिया है। यह सीट भाजपा का गढ़ मानी जाती है यहां की जनता ने लगातार चार बार सत्य प्रकाश अग्रवाल को आशिर्वाद दिया। कैंट सीट पर इस बार अमित अग्रवाल के सामने बड़ी चुनौती होगी। यहां बसपा से अमित शर्मा, अपनी जनता पार्टी से उपेंद्र कुमार, और न्याय पार्टी से पवन कुमार मैदान में हैं। देखना दिलचस्प होगा कि क्या हर बार की तरह इस बार भी बीजेपी कैंट सीट को बचा पाएयी।

सरधना विधानसभा सीट
सरधना से विधायक संगीत सिंह सोम को भाजपा ने एक बार फिर मैदान में उतारा है तो वहीं सपा रालोद गठबंधन से अतुल प्रधान को खड़ा किया है। इस सीट पर इस बार अतुल प्रधान और संगीत सोम की सीधी टक्कर का अनुमान है। इसी के साथ बसपा से संजीव धामा, आप से संजय और दयाचंद ने निर्दलीय से पर्चा भरा है।

सिवालखास विधानसभा सीट

यहां भाजपा से मनिंदर पाल सिंह, सपा रालोद गठबंधन से गुलाम मौहम्मद, आप से कुलदीप, और एआईएमआईएम ने रफात को मैदान में उतारा है।

हस्तिनापुर विधानसभा सीट
यहां भाजपा ने दिनेश खटीक को टिकट दिया है तो वहीं सपा रालोद गठबंधन से योगेश वर्मा ने ताल ठोकी है। बसपा से संजीव कुमार और भारतीय वीर दल से ममता मैदान में उतरी हैं।

किठौर विधानसभा सीट
यहां वर्तमान विधायक सत्यवीर त्यागी ने 2022 के चुनाव के लिए एक बार फिर अपना नामांकन दाखिल कर दिया है। यहां बसपा से कुशल पाल मावी उर्फ केपी मावी को मैदान में उतारा है। एआईएमआईएम से तसलीम अहमद, कांग्रेस के बबीता, सपा रालोद गठबंधन से शाहिद मंजूर, भारतीय जनता दल से राकेश गिरी और पवन शर्मा ने निर्दलीय से पर्चा भरा है।

अब तक 40 से ज्यादा प्रत्याशियों ने नामांकर ​कर दिया है आज नामांकर आ आखिरी दिन है। 10 फरवरी को पहले चरण का मतदान होना है कुल सात चरणों में मतदान होगा और 10 मार्च को नतीजे आएंगे। और उस दिन तय होगा कौन बनेगा मुख्यमंत्री।

Leave a reply

en_USEnglish