“भारत में तालिबानी मानसिकता को जगह नहीं देंगे”: उदयपुर हत्याकांड की निंदा करते हुए बोले अजमेर दरगाह प्रमुख

0
125

 

उदयपुर में दिन दहाड़े एक दर्जी की हत्या ने हर किसी को हिला दिया है. अब पूरे देश में हर कोई इस घटना की निंदा कर रहा है.उदयपुर हत्याकांड पर अब अजमेर दरगाह दीवान जैनुल आबेदीन अली खान की भी प्रतिक्रिया आई है. उन्होंने इस घटना की निंदा करते हुए कहा भारत के मुसलमान देश में कभी भी तालिबानीकरण की मानसिकता को सामने नहीं आने देंगे. उदयपुर में दो लोगों ने एक दर्जी की हत्या कर दी और ऑनलाइन वीडियो पोस्ट करते हुए कहा कि वे इस्लाम के अपमान का बदला ले रहे हैं.

जैनुल आबेदीन अली खान ने एक बयान में कहा, “कोई भी धर्म मानवता के खिलाफ हिंसा को बढ़ावा नहीं देता है. विशेष रूप से इस्लाम धर्म में सभी शिक्षाएं शांति के स्रोत के रूप में काम करती हैं. “उन्होंने कहा, “इंटरनेट पर सामने आए भीषण वीडियो में, कुछ गैर-नैतिक दिमागों ने एक गरीब आदमी पर क्रूर हमला किया, जिसे इस्लामी दुनिया में पाप माना जाता है,” आरोपी कुछ कट्टरपंथी समूहों का हिस्सा थे जो हिंसा के रास्ते से ही समाधान ढूंढते हैं.

उन्होंने कहा, “मैं इस कृत्य को दृढ़ता से निंदा करता हूं और सरकार से उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का अनुरोध करता हूं. भारत के मुसलमान हमारी मातृभूमि में कभी भी तालिबानीकरण की मानसिकता को सामने नहीं आने देंगे.” वहीं जमीयत उलेमा-ए-हिंद के महासचिव मौलाना हकीमुद्दीन कासमी ने भी हत्या की निंदा की. उन्होंने एक बयान में कहा, “जिसने भी इस घटना को अंजाम दिया उसे किसी भी तरह से सही नहीं ठहराया जा सकता, यह देश के कानून और हमारे धर्म के खिलाफ है.

Leave a reply

en_USEnglish