अशोक गहलोत ने एक बार फिर कांग्रेस को संकट से निकाला, जी-23 नेताओं से सुलह में निभाया अहम किरदार!

0
52

कांग्रेस की हाईकमान कर गांधी-नेहरू फैमिली के विश्वासपात्र, वफादार और पार्टी के सिद्धांतों नीतियों एवं कार्यक्रमों के प्रति हमेशा प्रतिबद्ध रहने वाले राजस्थान के CM अशोक गहलोत ने एक बार फिर कांग्रेस के संकटमोचक का किरदार निभाते हुए जी-23 नेताओं से सुलह में महत्वपूर्ण किरदार निभाया है. दरअसल गहलोत 2 भागों में विभाजित लग रही कांग्रेस को एकजुट करने में एक मजबूत पुल का काम किया है.

फलस्वरूप शनिवार को CWC की बैठक में असंतोष के कोई स्वर नहीं उभरें और सभी ने एक बार फिर सोनिया गांधी के प्रति पूरा विश्वास जताया है. साथ ही कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में कांग्रेस संगठन की चुनावी तारीख की घोषणा ऐभी हुई है, जिसके मुताबिक कांग्रेस को अगले साल अक्टूबर में नया अध्यक्ष मिलेगा और तब तक सोनिया गांधी ही कांग्रेसअध्यक्ष रहेंगी. बैठक में राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, केसी वेणुगोपाल अम्बिका सोनी सहित कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहें. पूर्व PM डॉ मनमोहन सिंह अस्वस्थ होने और दिग्विजय सिंह एवं कुछ अन्य नेता कतिपय निजी कारणों से बैठक में नहीं आ सके.

 

 

Leave a reply

en_USEnglish