PM मोदी ने G20 अध्यक्षता का लोगो, थीम और वेबसाइट किया लॉन्च, कहा- देश के लिए ऐतिहासिक क्षण

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को भारत की जी20 की अध्यक्षता के लोगो, थीम और वेबसाइट का अनावरण किया. जी20 की अध्यक्षता भारत को अंतरराष्ट्रीय महत्व के महत्वपूर्ण मुद्दों पर वैश्विक एजेंडे में योगदान करने का एक अनूठा अवसर.......
0
82

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने मंगलवार को भारत की जी20 की अध्यक्षता के लोगो, थीम और वेबसाइट का अनावरण किया और इसे देश के लिए एक ऐतिहासिक क्षण बताया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘मैं भारत के जी20 प्रेसीडेंसी के ऐतिहासिक अवसर पर देशवासियों को बधाई देता हूं. ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ विश्व के प्रति भारत की करुणा का प्रतीक है. कमल विश्व को एक साथ लाने में भारत की सांस्कृतिक विरासत और विश्वास को चित्रित करता है.’ उन्‍होंने कहा कि ‘दुनिया विनाशकारी COVID-19 महामारी के बाद के प्रभावों से गुजर रही है. G20 लोगो का प्रतीक आशा का प्रतिनिधित्व है. परिस्थितियां कितनी भी विपरीत क्यों न हों, कमल खिलता रहता है.’

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि G20 लोगो सिर्फ एक लोगो नहीं है बल्कि यह एक संदेश और एक भावना है जो हमारी रगों में है. यह एक संकल्प है, जिसे हमारी सोच में शामिल किया गया है. कमल पर सात पंखुड़ियां, विश्व के सात महाद्वीपों और संगीत के सात स्वरों का प्रतिनिधित्व करती हैं. G20 दुनिया को सद्भाव में लाएगा. इस लोगो में कमल का फूल भारत की पौराणिक विरासत, हमारी आस्था, हमारी बुद्धि का चित्रण कर रहा है.

विदेश मंत्रालय ने कहा कि जी20 की अध्यक्षता भारत को अंतरराष्ट्रीय महत्व के महत्वपूर्ण मुद्दों पर वैश्विक एजेंडे में योगदान करने का एक अनूठा अवसर प्रदान करेगी. देश की जी20 की अध्यक्षता के ये लोगो, थीम और वेबसाइट भारत के संदेश और दुनिया के प्रति उसकी व्यापक प्राथमिकताओं को प्रतिबिंबित करेंगे. भारत एक दिसंबर से इंडोनेशिया से जी20 की अध्यक्षता ग्रहण करेगा. जी20 या 20 देशों का समूह दुनिया की प्रमुख विकसित और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं का एक अंतर सरकारी मंच है. इसमें अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया गणराज्य, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, ब्रिटेन, अमेरिका और यूरोपीय संघ (ईयू) शामिल हैं.

जी20 अंतरराष्ट्रीय आर्थिक सहयोग का एक प्रमुख मंच है, जो वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का लगभग 85 प्रतिशत, वैश्विक व्यापार का 75 प्रतिशत से अधिक और विश्व की लगभग दो-तिहाई आबादी का प्रतिनिधित्व करता है. मंत्रालय ने कहा, ‘जी20 की अध्यक्षता के दौरान, भारत देशभर में विभिन्न स्थानों पर 32 विभिन्न क्षेत्रों से संबंधित लगभग 200 बैठकें आयोजित करेगा. अगले साल होने वाला जी20 शिखर सम्मेलन, भारत द्वारा आयोजित किया जाने वाला शीर्ष स्तर के अंतररष्ट्रीय सम्मेलनों में से एक होगा.’ भारत वर्तमान में जी20 ट्रोइका (वर्तमान, पिछली और आगामी जी20 अध्यक्षता) का हिस्सा है जिसमें इंडोनेशिया, इटली और भारत शामिल हैं.

Leave a reply

en_USEnglish