PM Modi Birthday : प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन के मौके पर उनसे जुडी 6 अनसुनी बाते , आप भी जाने

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज 72वा जन्मदिन है ,मां हीराबेन के लिए नरिया और दोस्तों के बीच ND के नाम से मशहूर नरेन्द्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को गुजरात के महेसाणा जिले में स्थित वडनगर में हुआ था, तो चलिए प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन के मौके पर जानेंगे उनसे जुडी कुछ अनसुनी बाते .
0
160

नरेंद्र दामोदरदास मोदी..ये सिर्फ एक नाम नहीं बल्कि अपने आप में एक पूरी कहानी है, जिसका सफर गुजरात के वडनगर से शुरु होकर दिल्ली स्थित पीएम हाउस तक पहुंचा। हालांकि, उनका ये सफर न सिर्फ संघर्षों से भरा बल्कि बेहद रोमांचक भी रहा। मां हीराबेन के लिए नरिया और दोस्तों के बीच ND के नाम से मशहूर नरेन्द्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को गुजरात के महेसाणा जिले में स्थित वडनगर में हुआ था। मोदी 6 भाई-बहनों में तीसरे नंबर के हैं।

तो उन्ही के जन्मदिन के मौके पर 6 ऐसी बाते आपको बताने जा रहे है जो सायद आपने नहीं सुनी होंगी , आइए जानते है –

1.पीएम मोदी के बचपन का नाम

प्रधानमंत्री मोदी के पिता दामोदर दास मूलचंद मोदी की वडनगर स्थित रेलवे स्टेशन पर चाय की दुकान थी। मोदी के बचपन का नाम नरिया था। हर कोई प्यार से उन्हें नरिया कहकर बुलाता था। वह वडनगर के भगवताचार्य नारायणाचार्य स्कूल में पढ़ते थे

2.प्रधानमंत्री को था अभिनय का शौ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बचपन में अभिनय का शौक रहा है। 2013 में मोदी पर लिखी गई किताब ‘द मैन ऑफ द मोमेंट : नरेंद्र मोदी’ के मुताबिक जब वह 13-14 साल के थे, तब उन्होंने स्कूल के लिए फंड जुटाने के लिए स्कूल के बाकी बच्चों के साथ एक नाटक में हिस्सा लिया था। ये नाटक गुजराती में थी। इसका नाम पीलू फूल था, जिसे हिंदी में पीले फूल कह सकते हैं।

3.संन्यासी बनने के लिए घर से भागे थे

स्कूल की पढ़ाई खत्म होते ही प्रधानमंत्री मोदी संन्यासी बनने के लिए घर से भाग गए थे। इसके बाद वह पश्चिम बंगाल के रामकृष्ण आश्रम सहित देश के कई जगहों पर गए। हिमालच में कई दिन तक साधु संतों के साथ रहे। तब उन्हें संतों ने कहा कि राष्ट्र की सेवा बगैर संन्यास धारण किए भी की जा सकती है। इसके बाद वह वापस गुजरात पहुंचे और उन्होंने संन्यास धारण करने का फैसला त्याग दिया।

4.समय के पाबंद, केवल चार घंटे की नींद लेते हैं
प्रधानमंत्री मोदी समय के बहुत पाबंद हैं। तय समय पर ही वह सारे काम करने की कोशिश करते हैं। वह केवल चार घंटे की नींद लेते हैं। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि वह शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए नियमित योग करते हैं। इसके अलावा ध्यान भी नियमित करते हैं।

5.पतंगबाजी का शौक
मोदी को पतंगबाजी का काफी शौक है। गुजरात में मुख्यमंत्री रहते हुए वह मकर संक्रांति पर बड़ी पतंगबाजी प्रतियोगिताओं का आयोजन करवाते थे। जो आज भी जारी है। इस कार्यक्रम में उन्होंने एक बार अभिनेता सलमान खान को भी आमंत्रित किया था।

6.कोई नशा नहीं करते
पीएम मोदी ने युवा अवस्था के दौरान नशे के खिलाफ अभियान भी चलाया था। कहा जाता है कि आज तक उन्होंने सिगरेट, शराब को हाथ तक नहीं लगाया। मोदी पूरी तरह से शाकाहारी हैं।

Leave a reply

en_USEnglish