UP Election 2022: पूर्व विधायक वीरपाल राठी का टिकट कटने से समर्थकों में आक्रोश

0
182

बागपत । UP विधानसभा चुनाव के लिए सपा-आरएलडी गठबंधन में उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतार रहे हैं, लेकिन कई सीटों पर हालात कुछ ठीक नहीं हैं। बागपत की सबसे हॉट सीट यानी छपरौली विधानसभा सीट से टिकट देकर काट दिए जाने से आरएलडी नेता वीरपाल के समर्थकों में काफी आक्रोश दिखाई दे रहा है। दरअसल पूर्व विधायक को आरएलडी ने छपरौली विधानसभा सीट से प्रत्याशी बनाया था, लेकिन दो दिन बाद ही पार्टी ने उनका टिकट काट दिया। इस बात से उनके समर्थक काफी नाराज हैं। आपको बता दें कि टिकट काटे जाने का दर्द बयां करते हुए पूर्व विधायक और आरएलडी नेता वीरपाल राठी ने पार्टी के दूसरे नेताओं पर साजिश का आरोप लगाया है।

 

वीरपाल राठी ने कहा कि उनकी छवि धूमिल करने की कोशिश की जा रही है। उनका आरोप है कि उनकी छवि बिगाड़ने के लिए एक लड़की की वॉइस रिकॉर्डिंग करके ऑर्डियो बनाया गया और उसे उनकी ऑडियो बताकर वायरल किया जा रहा है। आरएलडी नेता वीरपाल राठी ने इस मामले में बागपत की बड़ौत कोतवाली में अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कराया है। साथ ही उन्होंने वायरल ऑडियो की जांच कर सख्त कार्यवाही की मांग की है।

 

पूर्व विधायक का आरोप है कि राजनीतिक प्रतिद्वंदिता की वजह से उन्हें शिकार बनाने की कोशिश की गई है। इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि वह इस तरह के लोगों का जल्द पर्दाफाश करेंगे। बता दें कि वीरपाल राठी 2012 में बागपत की छपरौली विधानसभा सीट से विधायक चुने गए थे। इस बार फिर से आरएलडी मुखिया जयंत चौधरी ने उन्हें छपरौली से प्रत्याशी बनाया था, लेकिन 2 दिन बाद ही उनका टिकट काट दिया गया। जयंत चौधरी ने वीरपाल का टिकट काटकर आरएलडी से पूर्व विधायक रहे प्रोफेसर अजय कुमार को टिकट दे दिया। इसी को लेकर उनके समर्थकों में भी काफी आक्रोश दिखाई दे रहा है। इस मौके पर राजीव टिकरी से बात करते हुए उन्होंने कहा कि वीरपाल राठी जी का टिकट काटकर जयंत चौधरी जी ने गलती की है और इसका फर्क चुनाव में भी पड़ सकता है।

Leave a reply

en_USEnglish