मां ने बेटे के साथ मिलकर पति को मारा, फ्रिज में रखे शव के 22 टुकड़े, जानें त्रिलोकपुरी हत्याकांड की पूरी कहानी !

अभी श्रद्धा हत्याकांड की भयावहता से दिल्ली उबरी भी नहीं थी कि वैसी ही एक और वारदात सामने आ गई. पूर्वी दिल्ली के त्रिलोकपुरी में बेटे ने मां के साथ मिलकर पिता की हत्या की और फिर......
0
195

अभी श्रद्धा हत्याकांड की भयावहता से दिल्ली उबरी भी नहीं थी कि वैसी ही एक और वारदात सामने आ गई. पूर्वी दिल्ली के त्रिलोकपुरी में बेटे ने मां के साथ मिलकर पिता की हत्या की और फिर उसके शव के टुकड़े कर फ्रिज में रख दिए. दोनों शव के टुकड़ों को एक-एक कर ठिकाने लगाते थे. सीसीटीवी फुटेज की मदद से इस पूरे मामले का राजफाश हुआ और पुलिस दोनों आरोपियों तक पहुंच गई. पुलिस के मुताबिक पति को नशे की गोलियां खिलाकर मां ने बेटे के साथ इस दिल दहलाने वाले हत्याकांड को अंजाम दिया. मृतक का नाम अंजन दास बताया जा रहा है. आरोपी पत्नी पूनम और बेटे दीपक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. दोनों ने जून में ही यह मर्डर किया था. अब जाकर इसका पर्दाफाश हुआ. हत्या की वजह अवैध संबंध बताया जा रहा है.

हालांकि, पुलिस के मुताबिक मां पति की हरकतों से परेशान थी, मृतक अंजन के दूसरी औरतों से संबंध थे, जिससे बेटा भी चिढ़ा था. मृतक की शराब की लत से भी मां-बेटे गुस्सा थे. दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक शख्स की लाश के 22 टुकड़े किए गए, जिसमें से करीब 12 से 15 टुकड़ों को बरामद किया गया है. धड़ अब भी नहीं मिला है. मृतक शख्स लिफ्ट मैन था. पत्नी हाउस वाइफ थी और बेटा प्राइवेट जॉब करता था. शिकारी चाक़ू और एक अन्य हथियार से शव के टुकड़े करके फ्रिज में रखे गए. पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल एक हथियार बरामद कर लिया है. शिकारी चाकू नहीं मिला है. शव के टुकड़ों को फ्रिज में छिपाने के बाद घर मे पेंट कराया गया ताकि बदबू न आए. कई महीनों तक पाडंव नगर और ईस्ट दिल्ली के अलग–अलग इलाको में मां और बेटे शव के टुकड़े फेंकते रहे.

बतादे की मां-बेटे फ्रिज में रखे शव के टुकड़े को रात में पांडव नगर रामलीला ग्राउंड में फेंक देते थे. जब वहां बदबू फैलने लगी तो आसपास के लोगों ने इसकी शिकायत पुलिस से की. बाद में वहां शव के टुकड़े बरामद हुए. पुलिस ने इसके बाद आसपास के थाने में मिसिंग लोगों की शिकायत जांचने लगी और तहकीकात आगे बढ़ने पर अंजन दास के लापता होने की बात पता चली. फिर पुलिस ने रामलीला ग्राउंड के आसपास लगे सीसीटीवी के फुटेज खंगाले. उन्हें मां और बेटे कुछ फेंकते हुए दिखाई दिए. इसके बाद पुलिस उन्हें ढूंढते हुए त्रिलोकपुरी स्थित उस घर तक पहुंची जहां वे किराए पर रहते थे. घर की तलाशी ली गई तो फ्रिज में शव के टुकड़े रखे मिले. पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो मां और बेटे ने अंजन दास की हत्या की बात कबूल कर ली. मकान मालिक लक्ष्मी ने बताया कि पति, पत्नी और बेटा 5 साल से उनके यहां ही रह रहे थे. बहुत लड़ाइयां होती थीं उनके बीच.

Leave a reply

en_USEnglish