हमारा खाना-पहनना पसंद नहीं तो कहीं और चले जाओ,(मौलाना असद मदनी)

0
159

देवबंद में जमीयत उलमा-ए-हिंद के अधिवेशन के दूसरे दिन मौलाना असद मदनी ने कहा कि कितना कुछ सहने के बावजूद हम चुप हैं। यदि हमारा मजहब नहीं पसंद तो कहीं और चले जाओ। बता दें कि अधिवेशन का आज अंतिम दिन है। जहां कई महत्वपूर्ण फैसलों पर मुहर लगेगी।

देवबंद में जमीयत के अधिवेशन के तीसरे चरण में कई प्रस्ताव पेश किए गए, साथ ही कुछ अहम सुझाव दिए गए। अधिवेशन के दूसरे दिन मौलाना महमूद मदनी ने कहा कि कितना कुछ सहने के बावजूद हम चुप हैं। यह हमारे सब्र का इम्तिहान है, कहा कि यदि हमारा खाना, पहनना नहीं पसंद तो हमारे साथ मत रहो, कहीं और चले जाओ। जमीयत उलमा-ए-हिंद के दो दिवसीय अधिवेशन में उलमा देश के मौजूदा हालात समेत अनेक मुद्दों पर चर्चा कर रहे हैं। बता दें कि अंतिम दिन आज कई अहम प्रस्तावों पर मुहर लगी, कई अहम निर्णय भी लिए गए।

Leave a reply

en_USEnglish