दो दरोगा की जमकर की पिटाई,दरोगाओं ने भाग कर बचाई जान।

0
207

मेरठ।उत्तर प्रदेश के मेरठ में सोतीगंज स्थित जन्नत निशां कोठी पर बखेड़ा हो गया। यहां देहलीगेट थाने के दो दरोगाओं की लोगों ने जमकर पिटाई कर दी और उन्हें बंधक बनाने का प्रयास किया गया। इसके बाद घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। दोनों दरोगा छेड़छाड़ के मुकदमे के संबंध में नामजद आरोपियों को नोटिस देने और विवेचना के लिए आए थे। इसी दौरान महिलाओं ने हमला कर हंगामा कर दिया। पुलिस की पिटाई की जानकारी मिलने पर देहलीगेट और सदर बाजार पुलिस पहुंची। इस मामले में पुलिस ने दो महिला समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है।
सदर थाना क्षेत्र सोतीगंज में करीब 100 साल पुरानी और करीब 15 करोड़ कीमत की जन्नत निशां कोठी है। इस पर सेवानिवृत्त एडीएम आरिफ और अलाउद्दीन अपना-अपना दावा करते रहे हैं। इस कोठी में आरिफ की केयरटेकर रहती हैं। दो साल पहले अलाउद्दीन पक्ष की तहरीर पर केयरटेकर समेत छह लोगों पर छेड़छाड़ और मारपीट की धारा में केस दर्ज हुआ था। यह मामला काफी चर्चित हुआ था। बाद में पुलिस ने कार्रवाई के नाम पर अपने हाथ खींच लिए थे और मुकदमे में कोई कार्रवाई नहीं की।
वहीं अब एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने पुराने मुकदमों का निस्तारण करने के निर्देश दिए हैं। इसके चलते ही देहलीगेट पुलिस ने पीड़ित महिला के कोर्ट में 164 के बयान दर्ज कराए। इसमें महिला ने चार लोगों के नाम और बताए। मंगलवार दोपहर देहलीगेट थाने के दो दरोगा मोहसिन और बीर पाल सिंह चारों लोगों को 41(ए) का नोटिस देने के लिए कोठी पर पहुंच गए। आरोप है कि कोठी पर केयरटेकर और वहां सिक्योरिटी गार्ड ने पुलिस पर हमला कर दिया। दोनों दरोगा को महिलाओं और कोठी पर मौजूद लोगों ने पीटा।बताया गया कि दरोगा बीर पाल सिंह के हाथ में एक महिला ने दांत से काट लिया। दरोगाओं की पिटाई का पता लगते ही देहलीगेट और सदर बाजार थाने की पुलिस पहुंची। पुलिस ने दोनों दरोगा को पीटने के आरोपी अदनान व उसके बेटे के अलावा दो महिलाओं को गिरफ्तार किया। इसके बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस के खिलाफ काफी देर तक हंगामा किया। उन्होंने पुलिस पर बदसलूकी का आरोप लगाया।

Leave a reply

en_USEnglish