छत्तीसगढ़

रेसिडेंशियल स्कूल की छात्रा ने दिया बच्चे को जन्म:बीजापुर में उठा पेट में दर्द; अस्पताल लाने पर प्रेग्नेंट होने का चला पता

बीजापुर जिले के गर्ल्स हॉस्टल की 12वीं की छात्रा (20) ने बुधवार को एक बच्चे को जन्म दिया है। हॉस्टल में स्टूडेंट को अचानक पेट में दर्द होने पर उसे स्टाफ अस्पताल लेकर पहुंचे जहां जांच में उसके प्रेग्नेंट होने का पता चला। घटना के बाद अब अधिकारियों ने मामले में जांच की बात कही है।

डॉक्टरों ने छात्रा और नवजात को सुरक्षित बताया है। जिला शिक्षा अधिकारी बीआर बघेल के मुताबिक मामले की जानकारी मिली है, इसकी जांच की जा रही है। छात्रा गर्भवती कैसे हुई या बच्चे का पिता कौन है, इस बात का पता उससे पूछताछ के बाद ही चल सकेगा। माता-पिता को घटना की सूचना दे दी गई है। छात्रा के बच्चे को जन्म देने के बाद अधिकारी भी पोटा केबिन पहुंच गए हैं।

12वीं की छात्रा ने बुधवार को एक बच्चे को जन्म दिया है।
12वीं की छात्रा ने बुधवार को एक बच्चे को जन्म दिया है।

टीचर ने कहा- गर्भवती होने के कोई लक्षण नहीं थे

स्कूल की लेक्चरर अंशु मिंज ने बताया कि छात्रा बीजापुर की रहने वाली है और यहां हॉस्टल में रहती है। 9 महीने के दौरान उसमें गर्भवती होने के कोई लक्षण नहीं दिखे। छात्रा ने भी किसी बीमारी या तबीयत खराब होने की शिकायत नहीं की। उन्होंने बताया कि कभी-कभी गर्ल्स का ग्रुप सामान खरीदने के लिए गंगालूर जाता है, ये छात्रा भी गंगालूर आती-जाती रहती थी।

गंगालूर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लड़की ने दिया बच्चे को जन्म।
गंगालूर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लड़की ने दिया बच्चे को जन्म।

छात्रा के अफेयर की जानकारी मिली है

लेक्चरर अंशु मिंज ने बताया कि 3 साल पहले उसका किसी लड़के से अफेयर चल रहा था। परिजन भी ये बात जानते थे। दोनों बीजापुर में अक्सर मिलते-जुलते थे। फिलहाल, स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच के लिए पहुंची है। उन्होंने कहा कि हर महीने स्वास्थ्य विभाग की टीम को हॉस्टल में आकर छात्राओं की जांच करनी है, लेकिन टीम नहीं आती। अभी टीम को बुलाया गया, तब वो जांच के लिए पहुंची है।

  • rammandir-ramlala

Related Articles

Back to top button