छत्तीसगढ़

रायगढ़ बीजेपी में बगावत, महिला नेत्री गोपिका ने छोड़ी पार्टी:टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय भरा नामांकन, कोलता समाज का मिला समर्थन

रायगढ़ में बीजेपी नेताओं में लगातार बगावत देखने को मिल रहा है। टिकट वितरण से नाराज बीजेपी नेत्री गोपिका गुप्ता ने शुक्रवार को निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में रायगढ़ विधानसभा सीट से नामांकन दाखिल किया है। गोपिका को कोलता समाज ने समर्थन दे दिया है। कोलता समाज रायगढ़ में बड़ा वोट बैंक है।

नामांकन दाखिल करने से पहले गोपिका गुप्ता ने अपने समर्थकों के साथ रैली निकालकर शक्ति प्रदर्शन किया। गोपिका समर्थकों ने अपनी ताकत का एहसास भी कराया। गोपिका गुप्ता का कहना था कि उनकी लड़ाई अधिकारों की लड़ाई है। 20 साल तक पार्टी की सेवा करने के बाद भी उन्हें वह प्रतिफल नहीं मिला जो मिलना चाहिए।

टिकट नहीं मिलने पर कद्दावर नेत्री ने बीजेपी से की बगावत।
टिकट नहीं मिलने पर कद्दावर नेत्री ने बीजेपी से की बगावत।

ओपी चौधरी पर लगाए आरोप

2008 में महिला मोर्चा की अध्यक्ष थी रायगढ़। 2012 में महिला मोर्चा मंडल उपाध्यक्ष रही हैं। उन्होंने कहा कि ओपी चौधरी जब से बीजेपी में शामिल हुए हैं, तब से कोई भी पद में रहने नहीं दिया गया है।

चुनावी मैदान में निर्दलीय उतरी महिला प्रत्याशी

बीजेपी नेत्री गोपिका गुप्ता की शहर के अलावा गांव-गांव में भी अच्छी खासी पकड़ है। शायद यह पहली मर्तबा है जब एक महिला रायगढ़ विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनावी मैदान में उतरी है। गोपिका गुप्ता ने कहा कि समाज में हमेशा ही महिलाओं को पीछे रखा जाता है। महिलाओं को अपने अधिकार और हक के लिए लड़ाई लड़नी पड़ती है। वे महिलाओं के सम्मान और हक के लिए हमेशा आवाज उठाती रहेंगी।

समाज का मिलेगा समर्थन

रायगढ़ विधानसभा सीट में कोलता समाज के वोटरों की संख्या भी किसी भी प्रत्याशी के हार और जीत में अहम मायने रखते हैं। समाज के लोगों ने एक लंबे समय से इस सीट से कोलता समाज के किसी भी व्यक्ति को टिकट दिए जाने की मांग करते आ रहे हैं, लेकिन हर बार उनकी इस मांग को अनसुना किया जाता रहा है।

जोरदार रैली निकाली और शक्ति प्रदर्शन भी किया
  • rammandir-ramlala

Related Articles

Back to top button