सारंगढ़ बिलाईगढ़देश दुनिया

तेलंगाना में चुनाव से पहले ट्रक में मिले 750 करोड़, पुलिस के भी फूले हाथ-पांव, फिर पता चली असली कहानी

हैदराबाद।  तेलंगाना में विधानसभा चुनाव की तारीख तय होने के बाद चुनाव आयोग के साथ-साथ राज्य की पुलिस ने भी चौकसी बढ़ा दी है. ताकि किसी भी तरह का गैरकानूनी काम ना हो. इसी कड़ी में मंगलवार को गडवाल में एनएच पर तैनात पुलिसकर्मियों को रात साढ़े दस बजे एक ट्रक दिखा, जिसे रोककर चेक किया तो हर कोई हैरान रह गया. दरअसल, इस ट्रक में पुलिस को 750 करोड़ रुपये नकदी मिली. गडवाल से गुजरने वाला राजमार्ग जो आम तौर पर तस्करों के लिए एक बड़ा माध्यम माना जाता है. हालांकि, कुछ घंटों के सस्पेंस के बाद, यह बिना किसी शोर-शराबे का मामला थम गया क्योंकि नकदी यूनियन बैंक ऑफ इंडिया का था, जिसे केरल से हैदराबाद ट्रांसफर किया जा रहा था.

बुधवार को, तेलंगाना के मुख्य निर्वाचन अधिकारी विकास राज ने सभी अटकलों पर विराम लगा दिया और कहा कि बैंक अधिकारियों से पुष्टि के बाद ट्रक को आगे की यात्रा के लिए छोड़ दिया गया.विकास राज ने कहा, “750 करोड़ रुपये नकद वाला ट्रक कुछ घंटों के लिए सुर्खियों में रहा, लेकिन अंततः हमें पता चला कि यह सीधा-सीधा चेस्ट-टू-चेस्ट मनी ट्रांसफर था. एक बार सत्यापित होने के बाद, पुलिस ने ट्रक को अपनी यात्रा जारी रखने की अनुमति दी.’

 

 

सीईओ ने कहा कि कानून प्रवर्तन एजेंसियों की कड़ी निगरानी के कारण राज्य में प्रवेश करने वाले प्रत्येक वाहन का सावधानीपूर्वक निरीक्षण किया जा रहा है. दिल्ली में तेलंगाना चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करने से पहले हैदराबाद की अपनी हालिया यात्रा के दौरान, मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने राज्य चुनाव अधिकारियों से गोवा और अन्य स्थानों से महबुगनगर से हैदराबाद के रास्ते तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए कहा था. वह राज्य पुलिस द्वारा ‘कम’ नकदी जब्ती से भी परेशान थे. विपक्षी दलों की शिकायतों के बाद चुनाव आयोग ने शीर्ष आईपीएस अधिकारियों, चार कलेक्टरों और वरिष्ठ अधिकारियों का तबादला भी कर दिया.

चुनाव आयोग के सख्त रुख अपनाने के बावजूद, राज्य में चुनाव ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी कोई जोखिम नहीं ले रहे हैं और संभावित गड़बड़ी की आशंका के चलते मंगलवार रात को ट्रक को राजमार्ग पर रोक दिया था. आगे बताते हुए, ईसी के लिए तेलंगाना पुलिस के नोडल अधिकारी, संजय कुमार जैन ने कहा, “नकदी से भरे ट्रक को एक सड़क अवरोध का सामना करना पड़ा, जिससे सहायता के लिए गडवाल पुलिस को कॉल करना पड़ा. हमारे अधिकारियों ने निरीक्षण करने पर बड़ी मात्रा में नकदी की खोज की. जांच के बाद दस्तावेज़ों और बैंक तथा भारतीय रिज़र्व बैंक से परामर्श के बाद, गडवाल पुलिस के साथ ट्रक ने हैदराबाद की यात्रा जारी रखी.

HD MAHANT

Editor

Related Articles

Back to top button