छत्तीसगढ़

साय बोले- भूपेश सरकार की अनुपयोगी योजनाएं बंद करेंगे:दैनिक भास्कर से कहा- रमन सरकार की उपयोगी योजनाएं फिर होंगी शुरू

छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने साफ कहा है कि उनकी सरकार पिछली भूपेश सरकार की योजनाओं की समीक्षा करेगी और जो अनुपयोगी होंगी, उन्हें बंद किया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने ये भी स्पष्ट किया कि भाजपा की रमन सरकार की जिन योजनाओं को भूपेश सरकार ने बंद कर दिया था, उनको फिर से चालू किया जाएगा। साय ने बुधवार को ही दो उप मुख्यमंत्रियों के साथ शपथ ली है।

: भाजपा ने भूपेश सरकार की योजनाओं की लगातार आलोचना की है। ऐसे में क्या अब आपकी सरकार भूपेश सरकार की योजनाओं की समीक्षा कर उनको बंद करेगी?
साय: भूपेश सरकार की योजनाओं की निश्चित रूप से समीक्षा की जाएगी। जिन योजनाओं की उपयोगिता नहीं होगी, उन योजनाओं को

भूपेश सरकार ने भाजपा की रमन सरकार की जिन योजनाओं को बंद किया था, उन पर आपकी सरकार का क्या रुख होगा?
साय: रमन सरकार की जितनी योजनाओं को भूपेश सरकार ने बंद किया है, उनको फिर से चालू किया जाएगा। चरण पादुका, स्कालरशिप योजना जैसी उपयोगी योजनाओं को हम छत्तीसगढ़ में फिर से लागू करेंगे। भाजपा सरकार ने अनेक जनकल्याण की योजनाएं चलाई थीं, उन पर निर्णय लेकर उन्हें जल्द से जल्द चालू किया जाएगा। तेंदूपत्ता जिसे हरा सोना कहा जाता है उस पर 5500 रुपए प्रति मानक बोरा भुगतान भी किया जाएगा।

 इस बार भाजपा को महिलाओं का बड़ा समर्थन मिला है। ऐसे में मातृ वंदन योजना पर कब निर्णय लिया जाएगा?
साय: गुरुवार को होने वाली कैबिनेट में इस विषय पर चर्चा होगी। हर संभव कोशिश होगी कि इस पर जल्द से जल्द निर्णय लेकर विवाहित महिलाओं को हजार रुपए महीने दिए जाएं। इसका क्राइटेरिया भी जल्द ही बना लिया जाएगा।

 आपने शपथ लेने के बाद क्या प्राथमिकताएं तय की हैं?
साय हमारी प्राथमिकता में मोदी गारंटी के नाम से किए गए वादे हैं। हमारी सरकार इन वादों को एक- एक कर पूरा करेगी। किसानों को हमारी पिछली भाजपा सरकार के आखिरी दो साल का बोनस देंगे, जो उस समय नहीं दे पाए थे। रामलला दर्शन योजना प्रारंभ की जाएगी।

हर हाल में बंद किया जाएगा। इसके अलावा जिन योजनाओं में सुधार की जरूरत होगी, उनमें सुधार भी किया जाएगा।

  • rammandir-ramlala

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!