छत्तीसगढ़

झारखंड के कांग्रेस सांसद ने कहा-350 करोड़ मेरे नहीं:सारे पैसे परिवार के, इसे पार्टी से ना जोड़ें; आयकर विभाग ने 10 दिन की रेड में जब्त किए थे

इनकम टैक्स विभाग ने झारखंड से कांग्रेस के राज्यसभा सांसद धीरज साहू के 10 ठिकानों पर छापेमारी की। ये छापेमारी 6 दिसंबर को शुरू हुई थी जो 15 दिसंबर को खत्म हुई। 10 दिनों तक झारखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल में की गई छापेमारी में 350 करोड़ रुपए से ज्यादा कैश बरामद हुआ है।

इस छापेमारी के 10 दिन बाद धीरज साहू शुक्रवार को मीडिया के सामने आए और कहा कि ये सारा पैसा उनका नहीं है, बल्कि उनके परिवार और फर्म का है। वे हर चीज का हिसाब देंगे।

धीरज ने यह भी कहा कि इस पैसे का कांग्रेस या किसी और पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है। फिलहाल बरामद नोटों को बोलांगीर और

धीरज साहू के रांची स्थित आवास से आयकर अधिकारी कई बैग ले कर गए।

नौ ठिकानों से मिले 354 करोड़ रुपए, अब जमीन के अंदर कीमती चीजें होने का शक
इनकम टैक्स विभाग ने धीरज साहू के 10 ठिकानों पर छापेमारी में 354 करोड़ रुपए बरामद किए हैं। ओडिशा में बौद्ध डिस्टिलरी में छापे की कार्रवाई पूरी हो चुकी है। वहीं रांची वाले घर पर आयकर के अधिकारियों को कैंपस में जमीन के भीतर ज्वैलरी और दूसरी कीमती चीजें होने को शक है।​​​​​ बताया जा रहा है कि अगर किसी मेटल के बक्से में चीजें होंगी तो पता चल जाएगा। जानकारों की मानें तो जियो सर्विलांस सिस्टम के जरिए कैंपस की जांच की जा रही है।

अब ED जांच की चल रही तैयारी
धीरज साहू के ओडिशा के ठिकाने से कैश, जेवर के अलावा जमीन, होटल, हॉस्पिटल और व्यापार में निवेश के कागजात मिले हैं। इनका असेसमेंट किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि करोड़ों के इस निवेश की जांच अब ED कर सकती है। जानकारी के मुताबिक भुवनेश्वर में ED के एक बड़े अधिकारी ने आयकर टीम से मुलाकात कर पूरे मामले की जानकारी ली। इसके बाद दिल्ली लौट गए।

संबलपुर स्थित स्टेट बैंक में जमा करा दिया गया है।

  • rammandir-ramlala

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!