छत्तीसगढ़सरसीवासारंगढ़ बिलाईगढ़

महाठग का भंडाफोड़: पुलिस की बड़ी कामयाबी,सरगना शिवा साहू और साथियों की गिरफ्तारी

सारंगढ़ बिलाईगढ़/थाना सरसीवां सरगना शिवा साहू निवासी रायकोना महाठग शिवा साहू और उसके साथियों का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल की है। शिवा और उसके गिरोह ने शेयर मार्केट और क्रिप्टो करेंसी में निवेश का झांसा देकर लोगों से करोड़ों रुपए ठग लिए। तीन महीने की कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने इस शातिर ठग और उसके साथियों को गिरफ्तार कर लिया है।

गिरफ्तारी और जब्ती
पुलिस ने शिवा साहू और उसके आठ साथियों को रायपुर से गिरफ्तार किया है। अब तक आरोपियों से 13.57 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की गई है जिसमें 6.4 करोड़ रुपए की बैंक जमा राशि, 30 एकड़ जमीन, 64 लाख रुपए का मकान, 4.03 करोड़ रुपए के वाहन, 1 लाख रुपए नकद, 7 लाख रुपए के सोने के आभूषण, और 2.61 लाख रुपए के मोबाइल शामिल हैं।

घटनाक्रम
यह मामला तब तूल पकड़ा जब सौरभ अग्रवाल ने 2 करोड़ रुपए की ठगी की शिकायत थाना सरसीवां में दर्ज कराई। महाठग शिवा और उसके साथियों ने पुलिस पर दबाव बनाने के लिए ट्रैक्टर और गाड़ियों में भरकर भीड़ भेजी, लेकिन पुलिस ने हार नहीं मानी और अंततः उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

आगे की कार्यवाही
पुलिस अब भी अन्य संलिप्त लोगों और एजेंटों की तलाश में जुटी है। आरोपियों की रिमांड लेकर मामले की विस्तृत जांच की जाएगी। ठगी के नगद रुपए और सोने-चांदी के आभूषणों का ठिकाना अब भी पुलिस की पहुंच से बाहर है।

पुलिस की अपील
पुलिस अधीक्षक पुष्कर शर्मा ने जनता से अपील की है कि वे ठगी से बचने के लिए जागरूक रहें और कम समय में अधिक मुनाफे के लालच में न पड़ें। जैसे-जैसे और आवेदन आएंगे, जांच कर संलिप्त लोगों पर कार्यवाही की जाएगी।

पुलिस की सराहना
इस बड़े मामले में पुलिस विभाग, विशेषकर जिला कप्तान एसपी पुष्कर शर्मा, एडिशनल एसपी कमलेश्वर चंदेल, डीएसपी अविनाश मिश्रा, सायबर प्रभारी विक्कू ठाकुर और थाना प्रभारी टीकाराम खटकर की टीम की मेहनत रंग लाई है।

अब देखना यह है कि आगे जांच में और क्या-क्या खुलासे होते हैं और क्या ठगी का शिकार हुए लोगों की गाढ़ी कमाई उन्हें वापस मिल पाती है या नहीं।

  • rammandir-ramlala

Related Articles

Back to top button