देश दुनिया

गोगामेड़ी हत्याकांड: सेना से छुट्टी पर आया था नितिन फौजी, शूटर्स को विदेश भेजने का था वादा

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड में क्राइम ब्रांच के टॉप सूत्रों ने बड़ा खुलासा किया है। सूत्रों का कहना है कि शूटर रोहित राठौर और नितिन फौजी को विदेश में बुलाने का वादा किया गया था। इसके लिए दोनों को बतौर टोकन मनी 50-50 हजार रुपये भी दिए गए थे। चंडीगढ़ के बाद ये लोग गोआ जाने वाले थे फिर वहां से दक्षिण भारत में समय काटना था। दरअसल, इन शूटर्स को कहा गया था कि हत्याकांड के बाद करीब 20 दिन दक्षिण भारत में निकालने हैं। तब तक उनके पासपोर्ट और वीसा का इंतज़ाम किया जाएगा।

एक सेना से छुट्टी पर आया, एक पर पहले से रेप केस

क्राइम ब्रांच के सूत्रों ने बताया कि रोहित एक रेप केस में जेल जा चुका है और रोहित राठौर को लगता था कि सुखदेव ने ही उसे जेल करवाई थी। वहीं नितिन फौजी नवंबर में सेना से छुट्टी पर आया था। उस पर किडनेपिंग का एक मामला लग गया था तो उसे लगा कि अब नौकरी नहीं चलने वाली। लिहाजा वो भी इस अपराध में शामिल हो गया। इसके अलावा उधम सिंह भी नितिन फौजी के साथ फ़ौज की तैयारी कर चुका है, लेकिन पिछले 4 साल से सम्पर्क में नहीं था। हत्या करने के बाद इन्होंने छुपने के लिए उधम सिंह का इस्तेमाल किया।

बिना तलाशी घुसने के लिए नवीन का इस्तेमाल

सूत्रों की मानें तो, इस हत्याकांड में नवीन शेखावत को इन्होंने इसलिए अपने साथ मिलाया क्योंकि नवीन सुखदेव गोगामेड़ी को अच्छी तरह जानता था और नवीन के जरिए ही दोनों शूटर्स बिना तलाशी दिए सुखदेव गोगामेड़ी के घर मे घुसने में कामयाब हो गए थे। दरअसल, नवीन किसी सरकारी अधिकारी को काम के सिलसिले में सुखदेव से फोन करवाने के लिए गया था। लेकिन जैसे ही शूटर्स ने सुखदेव पर फायरिंग शुरू की तो नवीन घबरा गया और नितिन फौजी और रोहित को रोकने लगा, इसलिए दोनों ने नवीन को भी गोली मार दी।

  • rammandir-ramlala

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!